Fire in Rajkot Game Zone:

MUNGELI NEWS: नियमों में उलझा दिया…दोषी बाबू के खिलाफ कार्रवाई की मांग, बाबू आरके शर्मा के खिलाफ प्रदर्शन की तैयारी में छत्तीसगढ़ मैदानी स्वास्थ्य कर्मचारी संघ, नागेन्द्र अनुकंपा नियुक्ति मामले पर जांच शुरू

Featured ट्रेंडिंग राज्य-छत्तीसगढ़

 

-बाबू की एक गलती ने छीन ली अनुकंपा नियुक्ति!
– नियमों में उलझा दिया…दोषी बाबू के खिलाफ कार्रवाई की मांग
-स्वास्थ्य विभाग का मामला…दर-दर भटक रहे नागेंद्र….
-राज्यपाल,मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री को लिखा पत्र
-छत्तीसगढ़ मैदानी स्वास्थ्य कर्मचारी संघ प्रांतीय महामंत्री ने लिखा पत्र
-मुन्नालाल निर्मलकर ने नियम विरुद्ध निरस्त करने का लगाया आरोप
-दोषियों को तत्काल निलंबित करने व कार्रवाई की मांग
-मुन्नालाल निर्मलकर ने एक दिवसीय प्रदर्शन की भी दी चेतावनी
-अनुकंपा नियुक्ति मामले पर जांच शुरू

MUNGELI NEWS: मुंगेली/रायपुुर। अनुकंपा नियुक्ति मामले में राज्य सरकार एक्शन मोड पर हैं। छत्तीसगढ़ मैदानी स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के प्रांतीय महामंत्री मुन्नालाल निर्मलकर के पत्र पर जवाब तलब किया है। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अवर सचिव रोमन कुमार ने संचालक स्वास्थ्य सेवाएं को पत्र जारी किया है। पत्र में कहा गया है कि प्राप्त पत्र क्रमांक 59 प्रकरण में आवश्क कार्रवाई कर विभाग को अवगत कराने की बात कही गई है। वहीं बाबू आरके शर्मा के खिलाफ इतना बड़ा आरोप लगने के बाद मुंगेली सीएमएचओ ने न कोई नोटिस जारी किया न ही जवाब तलब किया।

MUNGELI NEWS:बता दें कि मुंगेली जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में पदस्थ एक बाबू कि एक गतली की वजह से नागेन्द्र कुमार निर्मलकर को अनुकंपा नियुक्ति के लिए वंचित होना पड़ा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में पदस्थ बाबू आरके शर्मा ने अनुकंपा नियुक्ति संबंध में विभाग को गलत जानकारी देकर नागेन्द्र के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है। जिसकी वजह से अनुकंपा नियुक्ति निरस्त हो गया। हम नहीं दरअसल छत्तीसगढ़ मैदानी स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के प्रांतीय महामंत्री मुन्नालाल निर्मलकर ने आरोप लगाया है।

MUNGELI NEWS:वहीं अब इस पूरे मामले को लेकर छत्तीसगढ़ मैदानी स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के प्रांतीय महामंत्री मुन्नालाल निर्मलकर ने राज्यपाल, मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, स्वास्थ्य सचिव को पत्र लिखकर अनुकंपा नियुक्ति देने व दोषी बाबू के खिलाफ निलंबन व जांच कर अपराधिक मामले के तहत कार्रवाई की मांग की थी। इस विभाग ने एक्शन लेते हुए जांच के निर्देश दिए हैं। वहीं प्रांतीय महामंत्री मुन्नालाल निर्मलकर ने कार्रवाई नहीं होने पर मुंगेली सीएमएचओ और बाबू आरके शर्मा के खिलाफ प्रदर्शन की तैयारी में हैं। प्रदर्शन में मुंगेली सीएमएचओ और बाबू आरके शर्मा को निलंबित करने की मांग करेंगे।

MUNGELI NEWS:इतना ही नहीं प्रांतीय महामंत्री मुन्नालाल निर्मलकर ने आरोप लगाते हुए कहा कि अनुकंपा नियुक्ति के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में पदस्थ बाबू आरके शर्मा ने 1 लाख रुपए कि रिश्वत भी मांगी थी, पीड़ित ने 50 हजार एडवांस भी दे दिया था, लेकिन कागजों में उलझाकर अनुकंपा नियुक्ति से वंचित कर दिया। वहीं उच्च अधिकारियों को भी बाबू ने उलझा दिया और नागेन्द्र को अनुकंपा नियुक्ति से वंचित होना पड़ा।

MUNGELI NEWS:बता दें कि भागवत प्रसाद निर्मलकर, (वॉर्डब्वॉय) के पद पर जिला चिकित्सालय मुंगेली में पदस्थ थे जिनका करोना के कारण वर्ष 2020 में निधन हो गया।
भागवत प्रसाद निर्मलकर के विकलांग पुत्र नागेन्द्र कुमार निर्मलकर (पिछड़ा वर्ग) द्वारा चतुर्थ वर्गीय पद पर अनुकम्पा नियुक्ति हेतु आवेदन प्रस्तुत किया गया था। जिसे यह कहकर निरस्त कर दिया गया कि मध्यप्रदेश के राजपत्र अनुसार आवेदक की शैक्षणिक अर्हता आठवी पास नहीं है। जबकि इस प्रदेश का नाम छत्तीसगढ़ है, मध्यप्रदेश नहीं है और छ.ग. बने 23 वर्ष हो चुके हैं। सच यह है कि ऐसा कोई राजपत्र मध्यप्रदेश से जारी ही नहीं हुआ।

 

MUNGELI NEWS:अधिकार के तहत जानकारी मांगी गई

 

MUNGELI NEWS:मुन्नालाल निर्मलकर ने बताया कि जब सूचना का अधिकार के तहत जानकारी मांगी गई तो यह लिखकर दिया गया कि मध्यप्रदेश के स्थान पर छत्तीसगढ़ पढ़ा जावे। अनावश्यक रूप से आठवी शैक्षणिक योग्यता बताकर प्रकरण संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं को छूट के लिए भेजा गया परंतु छूट नहीं मिली, जबकि छूट का मामला ही नहीं था। न तो मध्यप्रदेश एवं न ही छत्तीसगढ़ के संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं की कोई अधिसूचना आठवी परीक्षा के संबंध में जारी हुई है। संचालनालय चिकित्सा शिक्षा का नियम लगाकर आवेदन निरस्त कर दिया गया जबकि यह नियम संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं पर लागू नहीं होता है।

 

READ MORE: CG Rice Scam: कोयला, शराब के बाद 6 हजार करोड़ के चावल घोटाला!, केंद्रीय जांच एजेंसी ने छत्तीसगढ़ में दी दस्तक….

 

 

MUNGELI NEWS:संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं अंतर्गत चतुर्थ वर्गीय भर्ती नियम बने ही नहीं है। सभी जगह अर्थात पांचवी के आधार पर ही नियुक्ति हुई है। यह भी उल्लेखनीय है कि आवेदक वर्तमान में 10 वीं पास है तथा तत्समय भी पांचवी उत्तीर्ण था। आवेदक विकलांग / पिछड़े वर्ग का बाल बच्चेदार अत्यंत निर्धन व्यक्ति है। राशि रुपए 1 लाख की मांग आवेदक से करने की बात सुनाई दी है। नियम होने के बाद भी अनेकों बार प्रार्थना के पश्चात भी आवेदन निरस्त कर दिया गया। पुन: आवेदन किया गया किंतु सुनवाई नहीं हुई।

MUNGELI NEWS:दोषी बाबू के खिलाफ एफआईआर कर गिरफ्तारी कराते हुए मामला कायम किया जाए

MUNGELI NEWS:मुन्नालाल निर्मलकर ने चतुर्थ वर्गीय पद की शैक्षणिक अर्हता संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं छ.ग. अंतर्गत पाँचवी होने के कारण विकलांग / पिछड़ा वर्ग के आवेदक को तत्काल अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान की जाए। कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, मुंगेली के जिम्मेदार अधिकारी / कर्मचारियों को तत्काल निलंबित कर शासकीय सेवा से पृथक किया जावें। दोषी बाबू के खिलाफ एफआईआर कर गिरफ्तारी कराते हुए मामला कायम किया जाए।

 

READ MORE: TMKOC Update NEWS : हैरान कर देने वाली खबर, शो छोड़ने जा रही इस एक्ट्रेस ने लगाया गंभीर आरोप!